गोरखपुर ऑक्सीजन कांड : विभागीय जांच में निर्दोष साबित हुए डॉ. कफील खान

गोरखपुर। गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में हुए ऑक्सीजन कांड में निलंबित चल रहे बाल रोग विशेषज्ञ डॉक्टर कफील खान (Kafeel Khan) विभागीय जांच में निर्दोष साबित हुए। डॉ. कफील खान को लंबे समय से चल रही विभागीय जांच में क्लीन चिट मिल गई है। इस विभागीय जांच की रिपोर्ट गुरुवार को बीआरडी अधिकारियों ने डॉ. कफील को दी।

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में अगस्त 2017 में ऑक्सीजन की कमी के चलते 60 बच्चों की मौत हुई थी। शुरूआती जांच में डॉ. कफील खान समेत बीआरडी मेडिकल कॉलेज के पांच और ऑक्सीजन सिलेंडर वितरक दोषी पाया गया था और बाद में डॉ. कफील खान को निलंबित कर दिया गया था। इसके बाद डॉ. कफील खान लगभग 9 महीने जेल में भी रहे थे।

इस मामले में तत्कालीन प्रमुख सचिव स्टांप हिमांशु कुमार को जांच अधिकारी बनाया गया था। उन्होंने 18 अप्रैल को यूपी के चिकित्सा शिक्षा विभाग ने रिपोर्ट सौंप दी थी जिसमें यह कहा गया था कि डॉ. कफील ने किसी भी तरह की लापरवाही नहीं की थी और उस दिन स्थिति पर काबू पाने के लिए हर तरह का प्रयास किया था। उन्होंने ऑक्सीजन की कमी के बारे में सीनियर्स को पहले ही जानकारी दे दी थी।

विभागीय जांच में क्लीन चिट मिलने के बाद डॉ. कफील खान ने एक वीडियो शेयर किया जिसमें उन्होंने लोगों को अपने साथ खड़े रहने के लिए धन्यवाद दिया।

जोधपुर कोर्ट में पेश नहीं हुए सलमान खान, वकील ने बताई वजह

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *