‘रेप इन इंडिया’ बयान पर फंसे राहुल गांधी, EC ने अधिकारियों से मांगी रिपोर्ट

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी झारखंड विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान दिए ‘रेप इन इंडिया’ बयान पर फंसते नजर आ रहे है। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की शिकायत पर संज्ञान लेते हुए चुनाव आयोग (EC) ने राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी (सीईओ) से इस मामले की रिपोर्ट मांगी है। इस रिपोर्ट में सीईओ को चुनाव आयोग (EC) को यह बताना होगा कि राहुल गांधी ने यह बयान कब, कहां और किस संदर्भ में दिया था।

राहुल ने यह आपत्तिजनक बयान 12 दिसंबर को झारखंड के गोड्डा में दिया था। राहुल गांधी ने गोड्‌डा में चुनावी रैली के दौरान सार्वजनिक तौर पर कहा था कि ‘मोदी कहते हैं मेक इन इंडिया, लेकिन आजकल आप जहां कहीं भी देखते हैं, वहां ‘रेप इन इंडिया’ है। राहुल के इस बयान को लेकर संसद में भी काफी हंगामा हुआ था और भाजपा सांसदों ने राहुल से माफी मांगने के लिए कहा था।

लेकिन इसके बाद दिल्ली के रामलीला मैदान में कांग्रेस की ‘भारत बचाओ’ रैली में राहुल गांधी ने माफ़ी मांगने से इंकार करते हुए कहा था कि ‘मेरा नाम राहुल सावरकर नहीं, राहुल गांधी है। सही बात बोलने के लिए मैं माफी नहीं मांगूंगा।’ इस बयान का भाजपा और शिवसेना ने विरोध किया था।

वहीं स्मृति ईरानी की अगुवाई वाले भाजपा महिला सांसदों के प्रतिनिधिमंडल ने राहुल गांधी के ‘रेप इन इंडिया’ बयान पर शिकायत दर्ज कर उनके खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की थी। आयोग के अधिकारी ने बताया कि चुनाव आयोग ने 12 दिसंबर को राहुल गांधी के गोड्डा और साहिबगंज की जनसभाओं में दिए गए वक्तव्य पर रिपोर्ट मांगी है। शिकायत में उल्लिखित घटना की तथ्यात्मक रिपोर्ट मिलने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

टाईगर रिजर्व पार्क की तर्ज पर राजस्थान में बनेगा ‘बीयर रिजर्व पार्क’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *