सड़क हादसे में गई बेटे की जान, पिता ने 13वीं पर बांटे हेलमेट

दमोह। मध्य प्रदेश के दमोह जिले में बेटे की मौत के बाद एक पिता ने एक ऐसी अनूठी पहल पेश की, जिसकी अब हर कोई तारीफ कर रहा है। एक सड़क हादसे में बेटे की मौत के बाद शिक्षक पिता ने बुधवार को बेटे की 13वीं पर आए युवाओं को 51 हेलमेट भेंट किये।

हेलमेट बांटने वाले शिक्षक महेंद्र दीक्षित ने बताया कि 20 नवंबर को सड़क हादसे में उनके बेटे विभांशु उर्फ लकी दीक्षित की मौत हो गई थी। दुर्घटना के दौरान उसने हेलमेट नहीं पहना हुआ था और इसके चलते सिर की गंभीर चोट के कारण ही उसकी मौत हुई थी। इसलिए अब मैं हेलमेट बांट रहा हूं ताकि हेलमेट ना पहनने के कारण जो उनके बेटे के साथ हुआ, वो किसी और के साथ ना हो।

बता दें कि विभांशु तेजगढ़ के पास सर्रा रोड पर भैंस से टकराने के बाद पुल पर गिर गया। हादसे के समय विभांशु ने हेलमेट नहीं लगाया था जिसके चलते उसके सिर में गंभीर चोट आई और उसकी जान चली गई। बेटे की श्रद्धांजलि सभा में कहा कि मेरे बेटे की असमय हुई मृत्यु से जहां हमारे परिवार को गहरा सदमा लगा है, लेकिन ईश्वर ना करें कि इस प्रकार की घटना किसी के भी साथ हो।

बेटे की अर्थी को कंधा देने के बाद विभांशु के पिता महेश दीक्षित को लगा कि उनका बेटा तो दुनिया से चला गया लेकिन वे अपने बेटे की मौत के जरिए समाज को संदेश दे सकते है कि हेलमेट पहनना कितना जरूरी है। इसीलिए, उन्होंने बेटे की 13वीं में आए लोगों को हेलमेट भेंट कर सुरक्षित चलने की अपील की और बाइक चलाते समय हेलमेट पहनने का संकल्प भी दिलावाया।

84 के दंगों पर मनमोहन सिंह का बड़ा बयान, कहा – ऐसे रोका जा सकता था नरसंहार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *