फ्लोर टेस्ट में पास हुई उद्धव सरकार, बीजेपी का सदन से वॉक आउट

मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद उद्धव ठाकरे ने सदन में फ्लोर टेस्ट (Floor Test) भी पास कर लिया है। शनिवार दोपहर ढाई बजे विधानसभा में प्रोटेम स्पीकर दिलीप वलसे पाटिल की मौजूदगी में हुए फ्लोर टेस्ट में महा विकास अघाड़ी सरकार के पक्ष में कुल 169 वोट पड़े जबकि विपक्ष में एक भी वोट नहीं पड़ा। हालांकि वोटिंग के दौरान कुल 4 विधायक तटस्थ रहे यानी उन्होंने न तो उद्धव सरकार के पक्ष और न ही उसके विरोध में वोट डाला।

फ्लोर टेस्ट से पहले मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से गले मिलने के लिए विपक्ष के नेता की कुर्सी तक गए। हालांकि, चर्चा शुरू होते ही बीजेपी के विधायकों ने जमकर हंगामा किया। वोटिंग से पहले सदन में सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच हंगामा और नारेबाजी हुई। बहुमत परीक्षण (Floor Test) के बीच बीजेपी ने वॉक आउट कर दिया।

बाहर आकर पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि ‘ फ्लोर टेस्ट रेगुलर स्पीकर की नियुक्ति के बाद होता है. लेकिन यहां नियमों और संविधान को ताक पर रखकर प्रोटेम स्पीकर चुना और फ्लोर टेस्ट करवाया। हम राज्यपाल के पास जाएंगे और उनको अनियमितता का पत्र देंगे। वहीं, प्रोटेम स्पीकर दिलीप पाटिल ने कहा कि राज्यपाल ने इस सत्र की इजाजत दी है और सत्र नियमों के अनुसार ही शुरु किया गया है।

वहीं दूसरी तरफ जिस वक्त सदन में ठाकरे सरकार का बहुमत परिक्षण जारी था तब पहली बार विधायक बने आदित्य ठाकरे ने अपना नाम ‘आदित्य रश्मि उद्धव ठाकरे’ लिया। फ्लोर टेस्ट पास करने के बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि ‘हां मैंने छत्रपति शिवाजी महाराज और अपने माता-पिता के नाम पर भी शपथ ली। अगर यह अपराध है तो मैं इसे फिर से करूंगा।

Hyderabad : महिला डॉक्टर मर्डर केस में बड़ा खुलासा, वारदात से पहले रची थी साजिश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *